zindagii ka ek dard shayari hindi, गुलजार की जिंदगी शायरी, Hindi shayari wp

zindagii ka ek dard shayari hindi, गुलजार की जिंदगी शायरी, Hindi shayari wp. zindagii ka ek dard shayari hindi image, गुलजार की जिंदगी शायरी, गुलजार शायरी जिंदगी. zindagi ka dard quotes, zindagii ka dard shayari hindi. गुलजार शायरी जिंदगी. गुलजार शायरी motivational. गुलजार शायरी Love, गुलजार की शायरी दर्द भरी.

 

zindagii ka ek dard

 

कोई जिस्म पर अटक गया,

कोई दिल पर अटक गया,

इश्क उसका ही मुकमल हुआ,

जो रूह तक पहुच गया..

 

Koi jism par atak gaya,

Koi dil par atak gaya,

Ishq uska hi muqmal hua,

Jo ruh tak pahuch gaya..

****

zindagii ka ek dard shayari hindi
  • Save

दुपट्टा क्या रख लिया सर पे,

वो दुल्हन नजर आने लगी,

उसकी तो अदा हो गयी,

जान हमारी जाने लगी..

 

Dupatta kya rakh liya sar pe,

Wo dulhan najar ane lagi,

Uski to aada ho gayi,

Jaan hamari jane lagi..

****

एक सपने के टूटकर

चकनाचूर हो जाने के बाद

दूसरा सपना देखने के

हौसले का नाम जिंदगी हैं..

 

Ek sapne ke tootkar,

Chaknachoor ho jaane ke baad,

Dusra sapna dekhne ke,

Hausle ka naam zindagi hai..

****

zindagii ka ek dard shayari hindi
  • Save

zindagii ka ek dard shayari

 

तेरे बिना ज़िन्दगी से

कोई शिकवा तो नहीं,

तेरे बिना पर ज़िन्दगी भी

लेकिन ज़िन्दगी तो नहीं…

 

Tere Bina Zindagi Se

Koi Shikwa To Nahin,

Tere Bina Par Jindagi Bhi

Lekin Zindagi To Nahi..

****

तन्हाई की दीवारों पर,

घुटन का पर्दा झूल रहा हैं,

बेबसी की छत के नीचे,

कोई किसी को भूल रहा हैं..

 

Tanhai ki deewaro par,

Ghutan ka parda jhool raha hai,

Bebasi ki chhat ke niche,

Koi kisi ko bhool raha hai..

****

zindagii ka ek dard shayari hindi
  • Save

gulzar shayari 2022

 

सहमा सहमा डरा सा रहता है,

जाने क्यूँ जी भरा सा रहता है,

एक पल देख लूँ तो उठता हूँ,

जल गया घर ज़रा सा रहता है..

 

Sahma sahma dara sa rahta hai,

Jaane kyon jee bhara sa rahta hai,

Ek pal dekh lun to uthta hoon,

Jal gaya ghar zara sa rahta hai..

****

मत निकला करो…

इश्क की तलाश में मेरे यार,

क्युकी इश्क खुद ही ढूंढ लेता है,

उसके जिसे बर्बाद होना होता है..

 

Mat nikla karo,

Ishq ki talaash main mere yaar,

Kyonki ishq khud hi dhoondh leta hai,

Uske jiske barbad hona hota hai..

*****

zindagii ka ek dard shayari hindi
  • Save

zindagii ka ek dard

 

महफ़िल में गले मिलकर

वह धीरे से कह गए,

यह दुनिया की रस्म है,

इसे मुहोब्बत मत समझ लेना..

 

Mahafil Mein Gale Milkar

wah Dheere Se Kah Gae,

Yah Duniya Ki Rasm Hai,

Ise Mohabbt Mat Samajh Lena..

****

मेरे दर्द को भी आह का हक़ हैं,

जैसे तेरे हुस्न को निगाह का हक़ है,

मुझे भी एक दिल दिया है भगवान ने,

मुझ नादान को भी एक गुनाह का हक़ हैं..

 

Mere dard ko bhi aah ka haq hai,

Jaise tere husn ko nigaah ka haq hai,

Mujhe bhi ek dil diya hai bhagwan ne,

Mujh nadan ko bhi ek gunaah ka haq hai..

****

zindagii ka ek dard hindi shayari

 

रोई है किसी छत पे,

अकेले ही में घुटकर,

उतरी जो लबों पर तो

वो नमकीन थी बारिश..

 

Royi Hai Kisi Chhat Pe,

Akeli Hi Mein Ghutkat,

Utari Jo Labon Par To

Wo Namkin Thi Barish..

****

zindagii ka ek dard shayari hindi
  • Save

मेरी कोई खता तो साबित कर

जो बुरा हूं तो बुरा साबित कर

तुम्हें चाहा है कितना तू क्या जाने

चल मैं बेवफा ही सही

तू अपनी वफ़ा साबित कर..

 

Meri koi Khata to sabit kar

Jo Bura Hun To Bura sabit kar

Tumhen Chaha Hai Kitna tu kya Jaane

Chal Main Bewafa Hi Sahi

Tu Apni Wafa sabit Kar..

****

गुलजार की जिंदगी शायरी

 

खामोश लबो पर भी राज़ कुछ गहरे होते है,

मुस्कुराहट के पीछे भी जख्म गहरे होते है,

हस्ती हुई उन आँखों की नमी को देखो,

जिन में छुपे हुए हज़ारो दर्द गहरे होते है…

 

Khamosh labon par bhi raaz kuch gahre hote hai,

Muskurahat ke pichhe bhi zakhm gahre hote hai,

Hasti hue un aankhon ki nami ko dekho,

Jin main chhupe hue hazaro dard gahre hote hai..

****

zindagii ka ek dard shayari hindi
  • Save

जरा सी गलतफहमी पर,

न छोड़ो किसी अपने का दामन,

क्योंकि जिंदगी बीत जाती है,

किसी को अपना बनाने में..

 

Zara si galatfahmi par,

Na chhodo kisi apne ka daman,

Kyonki zindagi bit jaati hai,

Kisi ko apna banana main..

****

zindagii ka ek dard shayari hindi

 

जिस दिल में बसा था

नाम तेरा हमने वो तोड़ दिया,

न होने दिया तुझे बदनाम बस

तेरे नाम लेना छोड़ दिया..

 

Jis dil main basa tha,

Naam tera hamne wo tod diya,

Na hone diya tujhe badanam bas,

Tere naam lena chhod diya..

*****

शायरी गुलजार की जिंदगी

 

टूट जाना चाहता हूँ,

बिखर जाना चाहता हूँ,

में फिर से निखार जाना चाहता हूँ,

मानता हूँ मुश्किल हैं लेकिन

में गुलज़ार होना चाहता हूँ..

 

Toot jana chahta hoon,

Bikhar jana chahata hoon,

Main fir se nikhar jana chahata hoon,

Manta hoon mushkil hai lekin,

Main gulzar hona hona chahata hoon..

****

zindagii ka ek dard shayari hindi
  • Save

zindagii ka ek dard

 

रोने की सज़ा न रुलाने की सज़ा है,

ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सज़ा है,

हँसते हैं तो आँखों से निकल आते हैं आँसू,

ये उस शख्स से दिल लगाने की सज़ा है..

 

Rone ki saza na rulane ki saza hai,

Ye dard mohabbat ko nibhane ki saza hai,

Hanste hai to ankho se nikal aate hai aansu,

Ye us shakhs se dil lagane ki saza hai..

****

शायरी जिंदगी गुलजार की

 

वो मोहब्बत भी तुम्हारी थी

नफरत भी तुम्हारी थी,

हम अपनी वफ़ा का इंसाफ किससे माँगते..

वो शहर भी तुम्हारा था वो अदालत भी तुम्हारी थी..

 

Wo mohabbat bhi tumhari thi,

Nafarat bhi tumhari thi,

Hum apni wafa ka insaaf kisse maangte,

Wo shahar bhi tumhara tha wo adalat bhi tumhari thi..

****

गुंजाईश ही नहीं रखता मेरा दिल,

किसी और को बसाने की ,

छोटा सा ही तो है तो चाहत है,

इसमें तुम्हे समाने की..

 

Gunjaish hi nahi rakhta mera dil,

Kisi aur ko basane ki,

Chhota sa hi to hai to chahat hai,

Isme tumhe samane ki..

****

zindagii ka dard quotes

 

शायद जब नींद खुली तो पलकों,

में पानी था मेरे ख्वाब मुझ पर रो,

गए शायद जिस किसी को भी चाहो,

वह बेवफा हो जाता है सर अग र झुका,

हो तो सनम खुदा हो जाता है जब तक काम,

आते रहो हमसफर कहलाते रहो…

 

Shayad jab neend khuli to palko,

Main paani tha mere khwab mujh par ro,

Gaye shayad jis kisi ko bhi chaho,

Wah bewafa ho jata hai sar agar jhuka,

Ho to sanam khuda ho jata hai jab tak kaam,

Aate raho humsafer kahlate raho..

****

वो नहीं आती पर अपनी निशानी भेज देती है,

ख्वाबो में दास्ताँ पुरानी भेज देती है,

उसकी यादों के पल कितने भी मीठे है,

मगर कभी कभी आँखों में पानी भेज देती है..

 

Wo nahi aati par apni nishni bhez deti hai,

Khwabo  main dasta purani bhez deti hai,

Uski yaado ke pal kitne mithe hai,

Magar kabhi kabhi aankho main paani bhez deti hai..

****

zindagii ka ek dard shayari hindi
  • Save

zindagii ka ek dard shayari hindi

 

जब भी यह दिल उदास उदास होता है,

जाने कौन आस पास होता है,

कोई वादा नही किया लेकिन,

क्यों तेरा इंतजार होता है…

 

Jab bhi yah dil udaas udaas h๏ta hai,

jaane kaun aas paas hota hai,

koi wada nahin kiya lekin,

kyun tera intezar rahta hai..

 

****

read more:-

 

zindagii ka ek dard shayari hindi

 

वो सिलसिले वो शौक वो ग़ुरबत न रही,

फिर यूँ हुआ के दर्द में शिद्दत न रही,

अपनी ज़िन्दगी में हो गए मसरूफ वो इतना,

कि हम को याद करने की फुर्सत न रही..

 

Wo Silsile Wo Shauq Wo Gurbat Na Rahi,

Fir Yoon Hua Ke Dard Mein Shiddat Na Rahi,

Apni Zindagi Mein Ho Gaye Masroof Wo Itna,

Ki Hum Ko Yaad Karne Ki Fursat Na Rahi..

****

मै तुमसे हमेशा पुछा करता था,

कोई प्रॉब्लम है क्या,

पर मुझे बाद में पता चला,

कि तुम्हारे लिए सबसे बड़ी प्राब्लम,

तो मैं ही था..

 

Main tumse hamesha puchha karta tha,

Koi problem hai kya,

Par mujhe baad main pata chala,

Ki tumhare liye sabse badi problem,

To main hi tha..

****

zindagii ka ek dard gulzar shayari

 

मेरा हक़ नहीं है तुम पर,

ये जानता हु में,

फिर भी न जाने क्यों,

दुआओ में तुझको मांगना,

अच्छा लगता हे..

 

Mera hak nahi he tum par,

Ye jaanta hu me,

Phir bhi na jane kyon,

Duao me tuzako mangna,

Achha lagata he..

****

Leave a Comment

0 Shares
Krishna janmashtami 2022 wishes hindi: कृष्ण जन्माष्टमी पर शुभ संदेश bewafa dard bhari shayari mohabbat ki, मोहब्बत की शायरी dard bhari shayari mere akelepan aur bebasi ki romantic love shayari, heart touching love poetry गुलजार की उदास जिंदगी शायरी, gulzar ki udasi shayari Ek Dard Zindagi Ka Shayari, गुलजार की जिंदगी शायरी
Share via
Copy link
Powered by Social Snap